Medicine

Grilinctus Syrup Uses || ग्रिलिंटस-सिरप की पूरी जानकारी

क्या है ग्रिलिंटस-सिरप ? (What is Grilinctus Syrup in Hindi)

ग्रिलिंटस-सिरप (Grilinctus) सर्दी, सूखी खांसी, राइनाइटिस, नाक बंद और अन्य प्रकार की एलर्जी होने वाली तमाम समस्याओं के लिए असरदार सिरप है।

कीमत – 95.21 रूपए में (100 मि.लि. बोतल )
मैन्यूफ्रक्चररFranco-Indian Pharmaceuticals Pvt Ltd

कैसे काम करती है ग्रिलिंटस-सिरप ? (How does Grilinctus Syrup work in Hindi)

गुइफेनेसिन और अमोनियम क्लोराइड एक्स्पेक्टोरेंट्स के द्वारा कार्य करता है। जोकि ब्रोन्कियल स्राव (थूक) को बढ़ाने या बलगम की चिपचिपाहट को कम करने और खांसी के माध्यम से इसको खत्म करने के लिए ग्रिलिंटस-सिरप (Grilinctus Syrup) को उपयोग में लाया जाता है। वहीं, क्लोरफेनिरामाइन एक एंटी-एलर्जी/ एंटीहिस्टामिनिक है और हिस्टामाइन (रासायनिक संदेशवाहक) और उनके कामों में रुकावट पैदा करने का कार्य करता है। जिसके कारण एलर्जी होने की संभावना होती है। इसी के साथ नाक बहने, छींकने और आंखों में पानी आने जैसी एलर्जी के लक्षणों से क्लोरफेनिरामाइन राहत देता है। डेक्सट्रोमेथोर्फन सीएनएस (सेंट्रल नर्वस सिस्टम) पर कार्य करता है और ये आखिरी में दिमाग में खांसी के केंद्र की गतिविधि को कम करता है।

ग्रिलिंटस-सिरप की सामाग्री ? (Composition/Ingredients of Grilinctus Syrup in Hindi)

ग्रिलिंटस-सिरप (Grilinctus Syrup) चार टैबलेट्स से मिलकर बनी है-

  • Guaifenesin (गुआइफेनसिन)
  • Chlorpheniramine (क्लोरफेनीरामिन)
  • Dextromethorphan (डेक्सट्रोमेथोर्फेन)
  • Ammonium chloride (अमोनियम क्लोराइड)

ग्रिलिंटस (Grilinctus) निम्नलिखित पैकेज और क्षमताओं में उपलब्ध है। यह मार्केट में आसानी से मिल जाती है, लेकिन बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन कतई ना करें।

ग्रिलिंटस-सिरप का सेवन/इस्तेमाल (Grilinctus Syrup Uses in Hindi)

आप ग्रिलिंटस-सिरप (Syrup Grilinctus) का इस्तेमाल कई सारी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए कर सकते हैं जो इस प्रकार हैं-

  • खांसी (cough)
  • सर्दी या फ्लू (Cold or flu)
  • सामान्य जुकाम (Common cold)
  • सूखी खाँसी (Dry cough)
  • सांस की बीमारियाँ (Respiratory diseases)
  • गीली आँखें (Wet eyes)
  • गले / त्वचा में खुजली (Itchy throat / skin)
  • पित्ती (Hives)

डॉक्टर से लें मुफ्त सलाह

ग्रिलिंटस-सिरप की सुरक्षा संबंधित चेतावनियां (Grilinctus Syrup Related Security Warnings in Hindi)

गर्भवती

(असुरक्षित)

गर्भवती महिलाओं के लिए ग्रिलिंटस (Syrup Grilinctus) सही दवा नहीं है। इससे उनको दुष्प्रभाव हो सकता है। यदि महिलाएं फिर भी इसका सेवन करती हैं इससे उन्हें कोई भी स्वास्थ्य संबंधी दुष्प्रभाव होता है तो तुरंत डॉक्टर से मिलें।

स्तनपान

(डॉक्टर से सलाह लें)

जो महिलाएं अपने शिशु को स्तनपान कराती हैं उन्हें इसका सेवन बिना डॉक्टर के नहीं करना चाहिए।

ह्दय

(सुरक्षित)

ग्रिलिंटस (Syp Grilinctus) का सेवन ह्दय संबंधित रोगी कर सकते हैं। उनके लिए यह हानिकारक नहीं है।

किडनी

(सुरक्षित)

किडनी वाले रोगी इस दवा का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि इसका प्रभाव बहुत कम पड़ता है।

ड्राइविंग

(असुरक्षित)

ग्रिलिंटस-सिरप (Syp Grilinctus) पीने के बाद आप ड्राइव करने से बचें, क्योंकि इसके सेवन से चक्कर और उनींदापन हो सकता है। जिससे बचना जरूरी है।

ग्रिलिंटस-सिरप की खुराक (Dosage of Grilinctus Syrup in Hindi)

ग्रिलिंटस-सिरप (Grilinctus Cough Syrup) की खुराक डॉक्टर मरीज़ की आयु, वजन, मानसिक स्थिति और एलर्जी की अवस्था और मरीज़ की स्वास्थ्य स्थिति जानकर ही इस दवा को खाने की अनुमति देते हैं, तो इसके लिए डॉक्टर से पूछना आपके लिए जरूरी है। उसी हिसाब से आप खुराक खाएं। अधिक खुराक का सेवन भी आपके लिए हानिकारक हो सकता है।
वयस्कों इस सिरप का सेवन 5 से 10 मि.ली. तक करें। इसको रोज़ाना 2 से 3 बार लें।
2 साल से कम उम्र के बच्चों को बाल विशेषज्ञ की सलाह से ही यह दवा दें।
इस दवा का इस्तेमाल लंबे समय तक करने या खुराक में बदलाव करने के लिए डॉक्टर से अवश्य पूछें।
ग्रिलिंक्टस सिरप का उपयोग करने से पहले पैक के अंदर मौजूद लीफलेट को अच्छी तरह पढ़ लें।

ग्रिलिंटस-सिरप के फायदे (Benefits of Grilinctus Syrup in Hindi)

ग्रिलिंटस-सिरप (Grilinctus Cough Syrup) सर्दी, जुकाम और गले व अन्य समस्याओं से निजात दिलाता है।
इस दवा का सेवन रोज़ाना 2 से 3 दिन तक करना होता है। इसके बाद ही आपको राहत मिलेगी।

इस दवा का सेवन से आपको नींद आने की संभावना अधिक हो जाती है तो डॉक्टर रात में इसकी खुराक लेने को कहते हैं।
दोनों खुराकों के बीच कम से कम 4 से 6 घंटे का समय अंतराल होना चाहिए। ताकि दवा का असर आपके शरीर में रहे।

ग्रिलिंटस-सिरप के नुकसान (Side Effects of Grilinctus Syrup in Hindi)

ग्रिलिंटस-सिरप (Grillinctus) आपको कई तरह के नुकसान पहुंचा सकती है। जिसको पहचनना आपके लिए जरूरी है। अलग-अलग व्यक्तियों को इसके नुकसान उसकी शरीरिक क्षमताओं के अनुसार होते है।

  • मतली या उलटी
  • खुजली या जलन
  • लाल चकत्ते
  • पेट दर्द
  • चक्कर आना
  • कब्ज
  • मुंह सूखना
  • गला सूखना
  • सूखी त्वचा
  • ऊंघना
  • सिरदर्द
  • यूरिन समस्या
  • भूख कम लगना
  • नाक बंद
  • छाती में जमाव
  • घबराहट
  • चक्कर आना
  • बेचैनी
  • उलझन
  • दौरे

डॉक्टर विनोद ने दिए ग्रिलिंटस-सिरप (Grilinctus Syrup) से जुड़े कुछ सवालों के जवाब (FAQ)

    • ग्रिलिंक्टस सिरप का सेवन मैं पीरियड्स के टाइम कर सकती हूं। इससे मेरे पीरियड् शेड्यूल पर कोई इफेक्ट तो नहीं पड़ेगा ?

आपके पीरियड्स शेड्यूल पर इस दवा का कोई असर नहीं पड़ेगा। यदि आपको पीरियड्स से संबंधित कोई भी समस्या पहले से रहती है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

    • ग्रिलिंक्टस सिरप से कोई भी मदहोश हो जाता है ?

इस सिरप के असर से मदहोश होना लाज़िमी है। इससे आपको चक्कर या उनींदापन हो सकता है, लेकिन यह हर व्यक्ति में अलग-अलग होता है।

    • इस दवा को आराम मिलने के बाद तुंरत बंद कर देना चाहिए या फिर धीरे-धीरे इसका उपयोग कम कर देना चाहिए ?

आप एकदम से यह दवा बंद नहीं कर सकते। इसका सेवन धीरे-धीरे कम कर दें। ऐसा करने से पहले डॉक्टर की राय अवश्य लें।

    • क्या ग्रिलिंक्टस सिरप का इस्तेमाल खाली पेट किया जा सकता है ?

वैसे तो आप इस सिरप का उपयोग खाली पेट कर सकते हैं, लेकिन पेट से जुड़ी समस्या से निजात पाने के लिए आपको भोजन के बाद ही इसका सेवन करना बेहतर होगा।

    • बच्चों को खांसी-जुकाम या बुखार में ग्रिलिंक्टस सिरप दे सकते है ?

नहीं, बच्चों को यह ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus) देने से पहले डॉक्टर से पूछें।

यदि आप कुछ और जानना चाहते हैं या अपनी किसी समस्या का समाधान चाहते हैं तो नीचे दिए गए फार्म को भरकर हमारे डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

User Rating: 4.5 ( 1 votes)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button